- 07 October, 2019

सामाजिक सरोकारों से जुड़ी राज काज की नई शैली

राजनीति करनी है तो जरूरी हो जाता है कि समाज की स्थापित परंपराओं, मूल्यों, संस्कारों इत्यादि की परवाह की जाए और परवाह ही नहीं बल्कि सरकार उसको प्रश्रय ,मजबूती दी जाए। आमतौर पर सत्ता में आने के बाद सामाजिक सरोकारों से पीठ दिखाने की परिपाटी रही है। मंदिरों की चौखट पर ढोक लगाने के ढोंग से सभी परिचित हैं यह लोकतांत्रिक व्यवस्था में दस्तूर जैसा है।

डा. राहुल रंजन
राजनीति करनी है तो जरूरी हो जाता है कि समाज की स्थापित परंपराओं, मूल्यों, संस्कारों इत्यादि की परवाह की जाए और परवाह ही नहीं बल्कि सरकार उसको प्रश्रय ,मजबूती दी जाए। आमतौर पर सत्ता में आने के बाद सामाजिक सरोकारों से पीठ दिखाने की परिपाटी रही है। मंदिरों की चौखट पर ढोक लगाने के ढोंग से सभी परिचित हैं यह लोकतांत्रिक व्यवस्था में दस्तूर जैसा है। नेता ऐसे न जाने कितने उपक्रम करते हैं जिससे कि यह प्रतीत हो कि वही एक ऐसे हैं जो धार्मिक हैं। हाथों में इतने कलावे बंधे रहते हैं कि जैसे मंदिर की रेलिंग हो जिस पर मन्नतों के लाल पीले धागे दिखाई देते हैं। हालांकि अब कलावा बांधना धर्म से वास्ता कम रखता है कुछ फैशन है और बहुत कुछ दिखावा। हमने उन सरोकारों से वास्ता रखना छोड़ दिया जिससे देश खड़ा हो सकता है। हम गांधी की लाठी और चश्मे का तो भरपूर दोहन करते रहे लेकिन न लाठी का रुख सुधार की ओर हो सका और न ही चश्मे से भविष्य का भारत देख पाए। हम अपने अंदर बसे रावण को जला नहीं पाए तो बाहर पुतले को जलाकर तालियां बजाने में ही लगे रहे। हम मूर्तियों के कद को लेकर जूझने में वक्त जाया कर रहे हैं लेकिन हमे पर्यावरण की चिंता नहीं है और न ही जल प्रदूषण की फिक्र। हम सिर्फ और सिर्फ अपनी आस्थाओं के खूंटे से बंधे ऐसे अंध विश्वासों की जंजीरों से कसे हुए हैं जिनसे मुक्ति मिलना संभव दिखाई नहीं देता। पर्यावरण के संरक्षण की जिम्मेदारी को व्यक्तिगत स्तर पर स्वीेेकार करना महत्चपूर्ण नहीं रह गया। हमने ही मौसम को विचलित कर उसे प्रलयंकारी बना दिया। यह हमारा स्वार्थ है एक तरह का लोभ है जिसने मौसम की आपदा को दैवी आपदा जैसे शब्दों से मंडित करके अपनी जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ लिया। हम विजयादशमी को रावण को जलाकर खुश होते हैं लेकिन उस वक्त जरा भी नहीं विचारते कि परंपरा जनित सामाजिक कुरीतियों की वजह से आज भी कितनी बेटियां मारी जा रही हैं। साक्षरता के नाम पर अक्षर ज्ञान और जोडऩा- घटाना ही नहीं बल्कि अंधविश्वासों से मुक्ति पाना भी है। सरकारें गरीबी का उन्मूलन नहीं कर रही बल्कि इस गाजरघास को नए नए तरीकों से फैला रही हैं। यह जानते हुए भी कि जब तक दर्दनाक सामाजिक विषमता की खाई बची रहेगी सतह के नीचे खौलते असंतोष और आक्रोश विस्फोटक बने रहेंगे। सरकारें भविष्य में होने वाले विस्फोटों से वास्ता नहीं रखतीं। सहानुभूति और सहिष्णुता परोपकार नहीं अपनी सुख शांति को निरापद रखने के लिए अनिवार्य है। हम दुनिया का गुरू बनने का सपना संजोए हुए हैं जबकि प्रकृति बार बार चेता रही है कि उसकी गर्दन पर मर्दन मत करो। हमारे साझे के सरोकारों से वास्ता रखने का वक्त सामने है। सुशिक्षित समाज हो, समाज का हर व्यक्ति स्वस्थ हो। नारियां सशक्त हों, अमीरी गरीबी की दूरियां कम हों, जनसंख्या व्यवस्थित हो और पर्यावरण संकट ग्रस्त न हो। खाद्य सुरक्षा और ऊर्जा सुरक्षा के क्षेत्र में काम हो। जल, जंगल और जमीन को संरक्षित और सुरक्षित किया जाए। यह सब हमारे हाथ में है। हमने ही सरकारों को चुना है तो हमारा ही कर्तव्य है कि सरकारों को कलाई पर थोथी उपलब्धियों के कलावे न बांधने दें न ही उनका चंदन तिलक कर उनके अभिमान को रावण जैसा बना दें। इस दिशा में प्रदेश में कमलनाथ के नेतृत्व में चल रही सरकार ने पर्यावरण ही नहीं सामाजिक सरोकारों से जुडऩे का पुरजोर प्रयास शुरू किया है। सीएम कमलनाथ ने उन सरोकारों को अपनी नीति में शामिल किया है जो अब तक दिखावे के रूप में थीं। प्रशासनिक स्तर पर सरकारी योजनाओं की विफलताओं को कमलनाथ के दीर्घ अनुभव ने भली भांति समझा है और शायद इसीलिए उन्होंने सामाजिक सरोकारों से जुड़ी तमाम योजनाओं पर स्वयं की निगाह जमा रखी है। वह राजकीय धर्म और सामाजिक धर्म को एक सूत्र में बांधकर रखने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं इसका परिणाम कम समय में ही प्रदेश में दिखाई देने लगा है। कमलनाथ के पूरे राजनीतिक जीवन में उनकी यह पहली अग्रिपरीक्षा है। अच्छाई की विजय को सुनिश्चित करने और स्थाई बनाने के लिए बिना डरे आगे बढ़े ऐसी कामना विजयादशमी पर कर सकते हैं। इस अग्रिपरीक्षा से डर नहीं रहे। उनके मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार प्रदेश में रावण दहन होने जा रहा है। अपेक्षा यही है कि प्रदेश के विकास में बाधक बने रावणों का कद अब और ऊंचा न हो।

-advertisement-
-advertisement-

वीडियो

My dream ,My school - DR. Prabhuram choudhary

ट्रेंडिंग

रोड शो देर तक चलने की वजह से पर्चा दाखिल नहीं कर सके केजरी,

भोपाल में 80वीं सालगिरह मनाना चाहती थीं सालेहा, लेकिन सेहत ने नहीं दिया साथ

धनुष-बोफोर्स से बेहतर सारंग तोप का परीक्षण

बैठक में मंत्री पटवारी और सांसद सोलंकी के बीच विवाद

केजरीवाल खिलाफ भाजपा से कुमार विश्वास और कांग्रेस से शीला दीक्षित की बेटी को उतारने की चर्चा

राजधानी का सबसे पुराना सिनेमाघर लक्ष्मी टॉकीज जमींदोज, 81 साल के फिल्मी सफर का हुआ THE END

मुख्यमंत्री कमलनाथ इंदौर में करेंगे झंडावंदन,

जबलपुर में सीएए और एनआरसी के विरोध में हजारों लोग सड़क पर उतरे; मौन जुलूस निकाला

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा- अफसर तय करें कि प्रदेश को कहां छोड़कर जाना चाहते हैं

सिंधिया से मिलने के लिए कार्यकर्ताओं ने की धक्कामुक्की;

नागरिकता संशोधन कानून का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों और पुलिस में झड़प,

मध्य प्रदेश बार काउंसिल के चुनाव आज, 25 सीटों के लिए 145 उम्मीदवार मैदान में

अजय देवगन की 'तान्हाजी' ने 7वें दिन भी मचाया तहलका, कमाए इतने करोड़

पीडब्ल्यूडी के उप सचिव नियाज खान के एनआरसी पर चार ट्वीट

अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस से नहीं मिलेंगे मोदी

दिग्विजय और कैलाश विजयवर्गीय ने एक-दूसरे को पहनाई मालवी पगड़ी

शहडोल जिला अस्पताल में 6 नवजात की मौत मामले में सीएमएचओ और सिविल सर्जन को हटाया गया

बार- बार सेल्फी लेना भी है एक सिंड्रोम

गर्लफ्रेंड नताशा से डेस्टिनेशन वेडिंग कर सकते हैं वरुण धवन

निर्भया के दोषियों की क्यूरेटिव याचिका खारिज,

बदला मौसम का मिजाज, राजधानी के कई इलाकों में झमाझम बारिश

एमपी पीएससी प्रारंभिक परीक्षा में शामिल प्रत्येक 38वें उम्मीदवार का चयन तय

प्लास्टि मुक्त भारत का संदेश

चहुंमुखी विकास के लिए तत्पर है प्रदेश सरकारः स्कूल शिक्षा मंत्री

मंगेतर नताशा के साथ इस अंदाज में दिखे हार्दिक पांड्या, तस्वीरें हो रहीं वायरल

चिदंबरम बोले -मोदी टीवी पर सवालों का जवाब दें

शाह ने कहा- 'भारत तेरे टुकड़े हों हजार', ऐसा कहने वालों की जगह जेल की सलाखों के पीछे

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर साधा निशाना

उन्नाव रेप केस की पीड़िता के पिता का इलाज करने वाले डॉक्टर की संदिग्ध हालात में मौत

रेल मंत्री की बड़ी सौगात, इंदौर-उज्जैन से वाराणसी के बीच चलेंगी 2 निजी ट्रेन

सेंगर को उम्रकैद की सजा

शाह के घर के बाहर महिला कांग्रेस का प्रदर्शन

किसानों के मुद्दे पर सदन में हंगामा

भू-माफिया बॉबी छाबड़ा ने जमीनों में की धोखाधड़ी

दमोह में छात्रा पर धारदार हथियार से हमला

पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने भी प्रदर्शनकारियों के खिलाफ पुलिस एक्शन को लेकर सरकार पर निशाना साधा

17 साल की उम्र में शादी, फिर तलाक, ऐसी रही माही गिल की पर्सनल लाइफ

ममता बनर्जी का अमित शाह पर हमला,

MCU प्रशासन ने 23 में से 3 छात्रों का निष्कासन रद्द कर दिया

भारतीय रेलवे स्लीपर/सेकेंड क्लास के किराये में मिलेगा 50% का डिस्काउंट

WhatsApp ने शुरू किए तीन जबरदस्त फीचर्स

दमोह में 11वीं की छात्रा से छेड़छाड़, विरोध करने पर मनचलों ने ब्लेड से किया हमला

जबलपुर आरपीएफ ने लोगों को यमराज द्वारा जिंदगी और मौत के मायने बताए

फरार जीतू सोनी समेत 9 लोगों पर एक करोड़ रुपए की धोखाधड़ी का केस

सिलवानी में करोड़ों रुपए कीमत की सरकारी भूमि पर अनेकों लोगों द्वारा कब्जा

कोर्ट ने BJP के पूर्व MLA कुलदीप सिंह सेंगर को दोषी करार दिया

पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह भोपाल में एक दिवसीय प्रवास पर

सामान्य से 9 डिग्री कम रहा इंदौर का तापमान

दमोह रेलवे स्टेशन पर खुले में रखा 30 हजार बोरी यूरिया भीगा

भाजपा नेता के रेस्टोरेंट पर बुलडोजर चला

प्रदेश में अंतरराष्ट्रीय स्तर का पहला गोल्फ कोर्स बनेगा

आरबीआई ने ग्राहकों की सुविधा के लिए बदले नियम

नगर निगम ने अवैध पार्किंग की जमीन को लिया कब्जे में

प्रदेश सरकार का 'नशे' के कारोबार से 13 हजार करोड़ रुपए राजस्व जुटाने का लक्ष्य

हाईकोर्टने कहा- लिंक रोड नंबर एक से हटाई जाएगी पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह की प्रतिमा

AICC कार्यालय में स्कूल शिक्षा मंत्री से मिले कार्यकर्ता

ममता बनर्जी ने की शांति की अपील

विजय दिवस पर प्रदेश के स्कूलों में फिल्म प्रदर्शन होगा

कांग्रेस की 'भारत बचाओ' रैली

खून की नदियां तो छोडि़ए कश्मीर में एक गोली भी नहीं चलानी पड़ी- अमित शाह

करतारपुर गलियारे पर अब पलटा पाकिस्तान

महंत नरेंद्र गिरि दोबारा चुने गए अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष

भिखारी की मौत के बाद झोपड़ी से निकले डेढ़ लाख के सिक्के और 8.7 लाख की एफडी

स्विस बैंक ने कालाधन रखने वालों की सूची सौंपी

भारतीय सेना का था खबरी, अब बना जैश का खूंखार आतंकवादी

ट्रंप के सामने PM मोदी ने पाकिस्तान पर किया अटैक

मप्र की राजनीति के जोकर हैं दिग्विजय : शिवराज

मुर्गी से नहीं पौधों से बने अंडे खाइए, टेस्ट में भी लाजावाब

कैब ड्राइवर ने नहीं रखा था कंडोम, ट्रैफिक पुलिस ने काट दिया भारी-भरकम चालान

भोपाल सहित 4 शहरों में अब इलेक्ट्रिक बसें चलेंगी

अमेरिकन आर्मी ने बजाई भारतीय राष्ट्रगान 'जन गण मन' की धुन

अब चंद्रयान-2 की 98 फीसदी सफलता पर उठने लगे सवाल