Powered By डॉ.राहुल रंजन
परिचय

तांकझांक डॉट कॉम के बारे में

दुनिया तेजी से बदल रही है और बदल रहे हैं हर क्षेत्र के मूल्य, ऐसे में समाचार जगत को भी मुश्किलों के दौर से गुजरना पड रहा है। वजह यह है कि नई तकनीक और रोजाना अपडेट होती दुनिया ने सबको अपने दायरे में ले लिया है। समाचार पत्र अब वैसे नहीं रहे जैसे पहले थे उनकी व्यवसायिक सोच बदल गई है और वह पाठकों से अधिक अपने पर ध्यान दे रहे हैं। ऐसे में वेव पोर्टल ने अपना स्थान बनाना शुरू किया और आज सर्वाधिक भरोसा इस माध्यम पर किया जा रहा है।
गांव और जिलों की खबरें क्षेत्रीय बना कर परोसी जा रहीं है और उनका मूल्य वही खत्म हो जाता है जहां वह पैदा होती हैं उनको विस्तार नहीं मिल पाता। मैने सोचा कि यदि यही हाल रहा तो आने वाले समय में ग्रामीण और कब्बाई खबरें आगे नहीं निकल पायेंगी और उनकी हत्या असमय हो जायेगी ऐसे में उन्हें संरक्षण कर बेहद आवश्यकता है; यह वेव पोर्टल ऐसे ही संवाददाताओं का माध्यम बनेगा जो अपनी बात को पूरे जोश के साथ रखकर अपने क्षेत्र का विकास करने की इच्छा रखते हैं। 
जिले में बैठे अफसरान सरकारी योजनाओं पर मौज करते हैं और क्षेत्र की आम जनता पीडित होती रहती है। राजधानी में बैठे मंत्री और अधिकारी सुविधाओं का भोग करने में मग्न रहते हैं वह कागजों पर आम जनता को ठगते रहते हैं। समय उनकी आदतों को सुधारने का है यह तभी संभव होगा जब हम सब जागरूक होंगे।
ताक झांक वेव पोर्टल उन तमाम लोगों के लिये तैयार किया गया है जिनको मंच नहीं मिल पा रहा था। इसमें खेत खलिहान से लेकर वह तमाम आवश्यकताएं पूरी करने की कोशिश की गई है जिसकी भारत के ग्रामीणों को आवश्यकता है। चूंकि दिक्कत हिन्दी की है तमाम वेव पोर्टल अंग्रेजी में उपलब्ध हैं हिन्दी में जानकारी के लिये भटकना पडता है हमने पूरी तरह से हिन्दी और बिल्कुल भारतीय ग्रामीण हिन्दी में पोर्टल पर सामग्री देने का प्रयास किया है।
डा राहुल रंजन
संपादक 
ताक झांक डाटकाम
taakjhak com
Submitted by admin on Sat, 02/20/2010 - 08:20
संपर्क व्यक्ति: 
डा राहुल रंजन
ईमेल: 
drrahulranjan08@gmail.com
Tel/ Mo No. - : 
9893804052

Share |