Powered By डॉ.राहुल रंजन
भोपाल

प्रधानमन्त्री का फोटो लगा बिल्डर चला रहे है "दुकान"

भोपाल। राजधानी में खुलेआम फर्जीवाड़ा हो गया और  सरकार के द्वारा कोई कार्यवाही नही  हुआ ओर न ही उसे नहीं रोका। मुद्दा बिल्डर्स की एक संस्था क्रेडाई द्वारा बिना अनुमति लगाए गए 'प्रधानमंत्री आवास योजना' के शिविर का है। इस शिविर का विधिवत फुल पेज विज्ञापन जारी किया गया। नगरीय विकास मंत्री माया सिंह ने इस विज्ञापन को गलत बताते हुए एफआईआर का कराने का ऐलान भी किया लेकिन शिविर का आयोजन नहीं रोका गया। रविवार को 3 स्थानों पर शिविर का आयोजन हुआ और 5000 रजिस्ट्रेशन किए गए।

आरटीआई एक्टिविस्ट अजय दुबे ने इसकी शिकायत पीएमओ एवं सीएम आॅफिस से की। सीएम आॅफिस से तो कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई लेकिन पीएमओ ने इस पर आपत्ति उठाई। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की फोटो बिना अनुमति कैसे उपयोग कर ली गई जबकि यह आयोजन सरकारी नहीं है।

अब मंत्री मायासिंह में एफ.आई.आर कराने का ब्यान दिया है ,ओर देखना ये है कि इस मामले में कोई मिलीभगत तो नही है क्योकि  शिकायत के वावजूद भी प्रदेश की सरकार ने पीएमओ कार्यालय की आपत्ति के बाद मंत्री के इस मामले में ब्यान दिया है

Share |