Powered By डॉ.राहुल रंजन
मनोरंजन

IAS सर्विस मीट में बोले शिवराज,' वल्लभ भवन में बैठे लोग कूप मंडूक हो जाते हैं'

भोपाल।प्रदेश की प्रशासनिक कमान संभालने वाले IAS ऑफिसर्स के लिए तीन दिवसीय 'IAS सर्विस मीट' का शुक्रवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रशासन अकादमी में शुभारंभ किया। सांस्कृतिक और खेलकूद प्रतियोगिताएं अरेरा क्लब में रखी गई हैं। आमतौर पर सख्त स्वभाव के लिए जाने-पहचाने जाने वाले अफसर मौज-मस्ती और हंसी-मजाक के मूड में नजर आए। खेलकूद और सांस्कृतिक आयोजन...
 
 
IES सर्विस मीट में बोले CM
IAS सर्विस मीट का शुभारंभ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि यह सेवा देश बदलने की है सेवा है। IAS सेवा नौकरी नहीं, बल्कि सर्विस मिशन है। ऐसे आयोजन ताजगी और विचार देते हैं। IAS सेवा की इज्जत कम न हो, आप लोग देखें। जूनियर और सीनियर के बीच सम्मान होना चाहिए, मर्यादा का उल्लंघन नहीं होना चाहिए। भ्रष्टाचार न होने दें। यदि कहीं होता है, तो सीधे मुझे बताएं। टारगेट अचीव करने का पैमाना यही है कि लाभ जनता तक पहुंचे। मप्र में भी IAS के गुट बन गए हैं, लेकिन अफसर V/S जनप्रतिनिधि की लड़ाई नहीं होनी चाहिए। व्यवस्थाएं कई बार हतोत्साहित करती हैं। कई मामले जो केबिनेट में नहीं आने चाहिए, पर मैं लेकर आता हूं। आजकल कुछ लोग जान-बूझकर गलती करते हैं।
 
सीएम ने RTI एक्टिविस्ट और व्हिसल ब्‍लोअर पर भी सवाल उठाते कहा कि, इनमें से कुछ अच्छे होते हैं, तो कुछ बहुत गंदा काम करते हैं। उन्होंने कहा कि निर्दोष पर आंच ना आए, ऐसा सिस्टम बनाना पड़ेगा। मीडिया के मित्र छापने को बैठे रहते हैं। कुछ मसाला मिलभर तो जाए। एमपी की ब्यूरोक्रेसी दुनिया में सर्वश्रेष्ठ। बेशक कई बार मीडिया आलोचना करती है, लेकिन यह सच है। सेवा का माध्यम है यह नौकरी। यह सेवा देश बदलने के लिए है। मुझे विचार आया की बेटी को बोझ नहीं बनने देना है। मैंने यह विचार IAS अधिकारियों के सामने रखा। आज इस पर कई योजनाएं बन गईं।
 
 
मीडिया के सवाल में बोले शिवराज
-मीडिया के एक सवाल के जवाब में सीएम ने कहा कि, IAS को रूटीन की जिंदगी से निकलना जरूरी है। वल्लभ भवन में बैठे लोग कूपमंडूक बन जाते हैं। उनका दिमाग फाइल में जूझते-जूझते काम करना बंद कर देता है। इसलिए ऐसे कार्यक्रमों की बहुत जरूरत है।
 
सीएस ने कहा
मप्र के मुख्य सचिव बीपी सिंह ने कहा कि IAS सर्विस मीट का उद्देश्य अधिकारियों में बड़े-छोटे का भाव मिटाना है। प्रदेश के अभी के IAS अधिकारी देश का बेहतरीन टैलेंट हैं। बदलते समय के साथ काम करना हुआ आसान। सीधे रास्ते पर चलना और निष्पक्ष कार्यवाही करना सफल IAS अधिकारी की निशानी है। IAS अधिकारियों को विकास-प्रगति के साथ गरीबों के कल्याण के लिए कार्य करना चाहिए। तमाम IAS अधिकारियों पर मुझे गव है।
Share |