Powered By डॉ.राहुल रंजन
देश

सैन्य नेतृत्व और सरकार के बीच मुलाकात

सैन्य नेतृत्व और सरकार के बीच मुलाकात
नई दिल्ली । देश के सैन्य नेतृत्व और राजनीतिक नेतृत्व में मुलाकातों का सिलसिला तेज हो गया है। बुधवार को नए आर्मी चीफ बिपिन रावत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। इससे पहले वायु सेना प्रमुख बीएस धनोवा पीएम से मिले थे। सेना के एक टॉप अफसर ने बताया कि पीएम और सेना प्रमुखों के बीच नियमित संपर्क में कमी अब खत्म होती नजर आ रही है। रक्षा जानकार इस संपर्क की कमी के प्रति चेताते रहे हैं।सूत्रों का कहना है कि अब देहरादून में 21 जनवरी को कम्बाइंड कमांडर्स कॉन्फ्रेंस होगी। माना जा रहा है कि इसमें भी तीनों सेनाओं के प्रमुखों से पीएम देश के सुरक्षा हालात पर चर्चा करेंगे। इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सशस्त्र बलों में तालमेल के लिए जिम्मेदार अफसर का नया पद बनाने के बारे में प्रेजेंटेशन दिया जा सकता है। तीनों सेनाओं के लिए राजनीतिक नेतृत्व के लिए सिंगल पॉइंट सलाहकार के तौर पर पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ का पद बनाए जाने की चर्चा थी। लेकिन अमेरिका की तर्ज पर इस पद का बनाया जाना रक्षा मंत्री को नहीं भाया। सूत्रों का कहना है कि चीफ्स ऑफ स्टाफ कमिटी का परमानेंट चेयरमैन का पद बनाया जा सकता है, जिसका दर्जा थल सेना, वायु सेना और नौसेना के अध्यक्षों के बराबर ही रखा जाएगा।

Share |