Powered By डॉ.राहुल रंजन
ग्‍वालियर

रिटायर पुलिस अफसर ने खुद को गोली मारी

रिटायर पुलिस अफसर ने खुद को गोली मारी
ग्वालियर। रिटायर्ड पुलिस अफसर 75 साल की उम्र में अपनी लाइसेंसी बंदूक से गोली मार खुदकुशी कर ली। कुछ देर पहले बुजुर्ग अफसर घर के दरवाजे से बाहर जाने की कोशिश में गिर गए थे। पड़ोसियों और परिजन ने उठाया तो हताश होकर बोले आज जिंदगी का आखिरी दिन है।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार सुबह भिंड के नयापुरा गौशाला के पास रहने वाले पुलिस के रिटायर्ड कंपनी कमांडर ब्रह्मस्वरूप शर्मा ने अपनी लाइसेंसी बंदूक से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। सुबह ब्रह्मस्वरूप सोकर उठे और फ्रैश होने के बाद बाहर सड़क पर ही घूमने जाने लगे। दरवाजे से बाहर निकलने की कोशिश के दौरान ब्रह्मस्वरूप घर के बाहर गिर पड़े। उन्हें गिरते देख पड़ोसी दौड़े और सहारा देकर उठाया और घर में उनके बेडरूम में ले जाकर लिटा दिया, वो आराम करने लगे। डायबिटीज और बीपी से जूझ रहे ब्रह्मस्वरूप ने उस वक्त पूरी तरह डिप्रेस नजर आए, उन्होंने पड़ोसियों और परिजन से कहा कि बस अब आज का दिन उनकी जिंदगी का आखिरी दिन होगा। इसके बाद पड़ोसी चले गए और परिजन अपने रोजमर्रा के कामों में बिजी हो गए। थोड़ी देर बाद उन्होंने सोफे पर बैठकर बंदूक को पैरों के बीच में फंसाया, फिर बंदूक की नली को मुंह के नीचे रखकर ट्रिगर दबा दिया। गोली ने उनके जबड़े को तोड़ दिया और उनकी मौके पर ही मौत हो गई।
अंदर कमरों में परिजन ने जब गोली चलने की आवाज सुनी, तब वे बाहर दौड़कर आए और देखा, तो यहां ब्रह्मस्वरूप शर्मा खून से लथपथ पड़े हुए थे। परिजन ने इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर
सीएसपी वीरेंद्र सिंह तोमर और टीआई शैलेंद्र सिंह कुशवाह फोर्स के साथ पहुंचे। पुलिस ने मर्ग कायम कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा और खुदकुशी में प्रयुक्त बंदूक को जब्त कर लिया।
बेटी की मौत से दुखी थे
ब्रह्मस्वरूप शर्मा की बेटी की दिसंबर 2016 में ससुराल में ही संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी। उसके ससुराल वालों पर हत्या का आरोप लगा था। इसके बाद से ब्रह्मस्वरूप सदमे में आकर बीमारियों से घिर गए थे। यहां तक कि बीमारी की वजह से उन्हें चलने फिरने में भी परेशानी होती थी।

Share |