Powered By डॉ.राहुल रंजन
देश

अफवाहों' का सुषमा ने खंडन किया

'अफवाहों' का सुषमा ने खंडन किया
नई दिल्ली    विदेशमंत्री सुषमा स्वराज ने शनिवार को उन सब खबरों को 'अफवाह' बताया, जिनमें उन्हें राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार बताया जा रहा था। विदेश मंत्री ने ऐसी सभी खबरों का खंडन किया है। हालांकि पक्ष और विपक्ष में से किसी ने भी राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए अपने उम्मीदवारों की घोषणा नहीं की है, इस पद के दावेदार के तौर पर सुषमा समेत कई लोगों के नाम चर्चा में हैं। पत्रकारों ने जब विदेशमंत्री से पूछा कि क्या राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए उनके नाम पर गौर किया जा रहा है तो उन्होंने कहा, 'ये अफवाह हैं। मैं विदेश मंत्री हूं और आप मुझसे जो पूछ रहे हैं वह आंतरिक मामला है।'
राष्ट्रपति पद का चुनाव 17 जुलाई को होने वाला है। अगर जरुरत पड़ी तो मतों की गणना 20 जुलाई को होगी। राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए नामांकन का पर्चा दाखिल करने की आखिरी तारीख 28 जून है। उम्मीदवार चुनावी रण से अपना नाम एक जुलाई तक वापस ले सकते हैं। ऐसे में पक्ष और विपक्ष अपने-अपने उम्मीदवारों को लेकर माथापच्ची तेज हो गई है।
शुक्रवार को राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार पर सर्वसम्मति बनाने के लिए बीजेपी नेता राजनाथ सिंह और वेंकैया नायडू ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी से मुलाकात की। हालांकि सत्ता पक्ष ने विपक्षी नेताओं से चर्चा में किसी नाम का प्रस्ताव नहीं दिया। वहीं सीपीएम ने राष्ट्रपति उम्मीदवार के लिए धर्मनिरपेक्ष चेहरे की 'शर्त' रखी है। बता दें कि सरकार और विपक्ष, दोनों ही इस मुद्दे पर पत्ते नहीं खोल रहे हैं।
राजनाथ और वेंकैया ने सोनिया गांधी से उनके आवास पर जाकर मुलाकात की। हालांकि उम्मीदवार के नाम से जुड़े सबसे अहम सवाल पर बात आगे नहीं बढ़ पाई। दोनों ने सीताराम येचुरी से भी मुलाकात की। बाद में सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि राजनाथ सिंह और वेंकैया नायडू ने उनसे मुलाकात की लेकिन उन्होंने राष्ट्रपति पद के लिए किसी नाम का प्रस्ताव नहीं दिया।

Share |